X

श्रमिक स्पेशल ट्रेन सूची: “Shramik Special Train” State Wise लिस्ट Book Ticket, समय सारणी

श्रमिक स्पेशल ट्रेन

भारतीय रेलवे ने घोषणा की है कि वह राष्ट्रव्यापी तालाबंदी के कारण विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों को स्थानांतरित करने के लिए शुक्रवार को “श्रम दिवस” से “श्रम स्पेशल” ट्रेनें चलाएगी। इन विशेष ट्रेनों को ऐसे फंसे हुए व्यक्तियों को भेजने और लाने  के लिए मानक प्रोटोकॉल के अनुसार संबंधित दोनों राज्य सरकारों के अनुरोध पर एक स्थान  से दूसरे स्थान तक चलाया जाएगा। राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टरो के अनुसार रेलवे और राज्य सरकारें वरिष्ठ अधिकारियों को, समन्वय और इन ‘श्रमिक विशेष ट्रेनों’ के सुचारू संचालन के लिए के लिए, नोडल अधिकारी के रूप में  नियुक्त करेंगी।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन के विशेष गाइड लाइन

  • रेलवे द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार, इन ट्रेनों के यात्रियों की बोर्डिंग पॉइंट पर भेजे जाने की जिम्मेवारी राज्यों की होगी और वहाँ उनका स्क्रीनिंग होगा और केवल कोरोना वायरस से स्पर्शोन्मुख पाए जाने वाले यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी।
  • राज्य सरकारों को भेजे जाने वाले इन व्यक्तियों के जत्थों को सैनीटाइजड बसो में, सामाजिक-सुरक्षा मानदंडों और अन्य सावधानियों का पालन करते हुए निर्धारित रेलवे स्टेशन पर लाना होगा  प्रत्येक यात्री को फेस कवर लगाना अनिवार्य होगा। मूल स्टेशनों पर भेजे गए यात्रियों को राज्य सरकार द्वारा भोजन और पीने का पानी उपलब्ध कराया जाएगा।
  • रेलवे यात्रियों के सहयोग से सामाजिक-दूरी करने के मानदंडों और स्वच्छता सुनिश्चित करने का प्रयास करेगी। लंबे मार्गों पर, रेलवे यात्रा के दौरान भोजन प्रदान करेगी|
  • गंतव्य पर पहुंचने पर, यात्रियों को राज्य सरकार द्वारा स्वागत किया जाएगा, जो उनकी स्क्रीनिंग, संगरोध, यदि आवश्यक हो, और रेलवे स्टेशन से आगे की यात्रा के लिए सभी व्यवस्था करेगी|
  • संबन्धित अधिकारी यात्रियों द्वारा दिया गए जानकारीयों की सत्यापन करेंगे और सही पाये जाने पर यात्रा पास जारी करेंगे|

श्रमिक स्पेशल ट्रेन सूची, रूट

रेलवे ने संबंधित राज्य सरकार के अनुरोध पर फंसे हुए व्यक्तियों को भेजने और लाने के लिए मानक के अनुसार विशेष ट्रेनें चलाने की घोषणा की हैं। 1 मई रेलवे ने शुक्रवार को सुबह 4:50 बजे हैदराबाद से झारखंड के 1,200 यात्रियों के साथ पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई गयी है। यदि अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूर, पर्यटक, छात्र और अन्य लोग लॉक डाउन के कारण अपने राज्य में जाना चाहते हैं, तो ऐसे लोग मार्ग और शेड्यूल अपडेट के साथ नीचे दिये हुए सारिणी से श्रमिक विशेष ट्रेन सूची की जांच कर सकते हैं। गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों और राज्य सरकार द्वारा प्राप्त मांगों के आधार पर छह श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाने की योजना है। आप यहां सूची, अनुसूची, बुकिंग अपडेट भी देख सकते हैं।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन की सूची (2 मई)

  • नासिक से लखनऊ – रात 09:30 बजे प्रस्थान
  • अलुवा से भुवनेश्वर- शाम 6 बजे प्रस्थान
  • नासिक से भोपाल- रात 8 बजे प्रस्थान
  • जयपुर से पटना- रात 10 बजे प्रस्थान
  • कोटा से हटिया- रात 9 बजे प्रस्थान

श्रमिक स्पेशल ट्रेन समय सारिणी

लिंगमपल्ली (तेलंगाना) से हटिया (झारखंड) के लिए पहली मई को शुरू हुई पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन 1250+ लोगों को ले गई और 2 मई की रात 23.15 बजे गंतव्य पर पहुंची।

नोट- हमने विशेष ट्रेन मार्ग अनुसूची, सूची और अन्य विवरण सरकार की अधिसूचना और समाचार के आधार पर प्रदान किए हैं। किसी भी कार्रवाई करने से पहले अधिकारियों (राज्य सरकार, भारतीय रेलवे, नोडल अधिकारियों) के साथ विवरण का सत्यापन करें।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन की मुख्य बिन्दु व बूकिंग

इन श्रमिक विशेष गाड़ियों के लिए पंजीकरण और बुकिंग केवल राज्य सरकार के अधिकारी ही कर सकते हैं। यह सुविधा जनता के लिए नहीं है, यानी फंसे हुए प्रवासी कामगार, छात्र और तीर्थयात्री इनकी बूकिंग ऑनलाइन नहीं कर सकते हैं|

         योजना का नाम           श्रमिक स्पेशल ट्रेन
         संगठन का नाम         गृह मंत्रालय
     किनके द्वारा संचालित         रेल मंत्रालय
       प्रेरणाप्रवासी श्रमिकों को स्थानांतरित करने के लिए
     स्पेशल ट्रेन की संख्या                6 ट्रेन
        लाभार्थीअन्य राज्य में फंसे मजदूर, पर्यटक, विद्यार्थी आदि लोग

लॉकडाउन यात्रा करने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन के लिए पंजीकरण कैसे करें?

दूसरे राज्य की यात्रा करने के इच्छुक व्यक्तियों को सुविधा का लाभ उठाने के लिए किसी भी दो राज्य सरकार (स्रोत और गंतव्य) के साथ पंजीकरण करना होगा। कोई और खुला उपाय  नहीं है। यह सरकार पर निर्भर है कि स्पेशल ट्रेनों को कब और कहां से भेजा जाएगा। अत: इन ट्रेनो में यात्रा करने के लिए आपको स्थानीय प्रशासन से संपर्क करना होगा| स्थानीय प्रशासन के अधिकारी आपको एक फॉर्म उपलब्ध करवाएँगे| आपको इस फॉर्म में मांगी जा रही सारी जानकारीयों को इसमे भरना होगा| फॉर्म के जमा होने के बाद पदाधिकारी इसकी सत्यापन करेंगे| इसके पश्चात स्थानीय प्रशासन आपसे संपर्क करेंगा और आपकी यात्रा के सारे बंदोवस्त भी संबन्धित अधिकारी ही करेंगे| तात्पर्य यह हैं कि आप को बिना स्थानीय प्रशासन की अनुमति के यात्रा करने का अधिकार नहीं हैं|

इस विशेष ट्रेन में, प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य लोगों को अपने राज्य की यात्रा करने के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा। इस ट्रेन के तहत ये लोगों मुफ्त यात्रा कर सकेंगे। कोविट 19 लॉकडाउन के कारण, विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिक, पर्यटक, छात्र और अन्य लोग इस श्रम विशेष ट्रेन में यात्रा करके अपने राज्य तक पहुँच सकते हैं। अब तक, रेलवे विभाग ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग के बारे में कोई जानकारी अपडेट नहीं की है। जैसे ही हमें ऑनलाइन टिकट बुक करने की कोई जानकारी मिलेगी हम आपको इसके बारे में सूचित करेंगे|

श्रमिक स्पेशल ट्रेन के संबंध में पूछे जाने वाले समान्य प्रश्न और उनके उत्तर

प्रश्न 1. क्या श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आम लोग भी यात्रा कर सकते हैं?

उत्तर- रेलवे द्वारा श्रमिक स्पेशल ट्रेन की घोषणा के बाद सबसे ज्यादा संशय की स्थिति इसी प्रश्न को लेकर बनी हुई हैं| बहुत ऐसे लोग हैं, जो बिना स्थानीय प्रशासन को सूचित किए रेलवे स्टेशन पर पहुँच रहे हैं| ऐसे लोगो को मैं यह बताना चाहूंगी कि इस स्पेशल ट्रेन को रेलवे ने राज्य सरकार के अनुरोध पर चलाया हैं|अत: बिना स्थानीय प्रशासन की अनुमति के आप इस ट्रेन में सफर नहीं कर सकते हैं| अत: सर्वप्रथम आपको अपने स्थानीय पदाधिकारियों, जैसे- पुलिस, नियुक्त नोडल अधिकारी आदि से संपर्क करनी चाहिए|दूसरी महत्वपूर्ण बात यह हैं कि यह ट्रेन विभिन्न स्थानों पर फंसे प्रवासी श्रमिकों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य व्यक्तियों को स्थानांतरित करने के लिए चलायी गयी हैं| इनके अलावा समान्य व्यक्ति तलबंदी के कारण अभी सफर नहीं कर सकते हैं|

प्रश्न 2. विभिन्न राज्यो में फंसे लोग इन स्पेशल ट्रेनों मे यात्रा के लिए किन अधिकारियों से संपर्क करे?

उत्तर- चूंकि रेलवे ने इन ट्रेनों को राज्य सरकारों के अनुरोध पर चलाया हैं अत: इन यात्रा के लिए टिकिट बूकिंग आदि की ज़िम्मेदारी रेलवे की नहीं हैं| ये सारे बंदोवस्त संबन्धित राज्य सरकारों के द्वारा होते हैं| बहुत सारे राज्यों ने जैसे, बिहार, मुंबई, गुजरात आदि के सरकारों ने इस हेतु नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की हैं| इन अधिकारियों से संपर्क का आप अपनी यात्रा का मार्ग प्रशस्त कर सकते हैं|

प्रश्न 3. क्या इस यात्रा के लिए कोई विशेष शुल्क देना होगा?

उत्तर- राष्ट्रीय पत्रकारों के अनुसार फिलहाल आपको इस यात्रा के लिए किसी भी प्रकार के विशेष शुल्क को प्रदान नहीं करना पड़ेगा| अभी यह यात्रा आपके लिए बिलकुल मुफ्त हैं|यहाँ तक कि मूल स्टेशनों पर भेजे गए यात्रियों को राज्य सरकार द्वारा ही भोजन और पीने का पानी उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रश्न 4. यदि राज्य सरकार ने नोडल अधिकारी को नियुक्त नहीं किया हैं, तो यात्रा के लिए कौन से अधिकारी से संपर्क करे?

उत्तर- अभी सभी राज्यों के सरकार ने नोडल अधिकारी की नियुक्ति नहीं किया हैं| ऐसी स्थिति में आप संबन्धित जगह के पुलिसकर्मी या एसडीएम या ब्लॉक ऑफिस के अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं| क्यूंकी सरकारी निर्देशों के मुताबिक दूसरे राज्य की यात्रा करने के इच्छुक व्यक्तियों को सुविधा का लाभ उठाने के लिए किसी भी दो राज्य सरकार (स्रोत और गंतव्य) के साथ पंजीकरण करना होगा। कोई और खुला उपाय  नहीं है। ऐसी स्थिति में यदि आप बिना स्थानीय प्रशासन की सहमति के रेलवे स्टेशन पहुँचते हैं,तो रेलवे आपको यात्रा की’ अनुमति नहीं देगी|

प्रश्न 5. लोगों की सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा क्या प्रोटोकॉल स्थापित किए गए हैं?

उत्तर- गृह मंत्रालय ने स्पष्ट रूप से कहा था कि हमें कानून और व्यवस्था बनाए रखने की जरूरत है, दिशानिर्देश जो बड़े पैमाने पर लोगों के आवागमन के लिए जारी किए गए हैं। यात्रा करते समय आपको मास्क पहनना पड़ता है, सामाजिक सुरक्षा प्रोटोकॉल बनाए रखना पड़ता है, और राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी किए जाने वाले अन्य सुरक्षा उपाय भी।

प्रश्न 6. सभी प्रवासियों श्रमिक स्पेशल ट्रेन के सुरक्षित परिवहन की जिम्मेदारी किसे प्रदान की गयी हैं?

उत्तर- राज्य सरकार जो इस आंदोलन में सक्रिय रूप से शामिल है, को एक नोडल अधिकारी नियुक्त करने की आवश्यकता है जो पूरी गतिविधि का प्रबंधन कर सके। अधिकारी को स्रोत स्टेशन पर सभी प्रवासियों की मेडिकल स्क्रीनिंग करने की आवश्यकता होती है और गंतव्य स्टेशन पर रहने वाले अधिकारी को लोगों की स्क्रीनिंग व्यवस्था करनी होगी।

यदि आपके पास श्रमिक स्पेशल ट्रेन से संबंधित कोई प्रश्न है, तो हमसे नीचे कमेंट सेक्शन मेंपूछें।

Amrita:

View Comments (17)