Festivals & Events

26 january ki shayari in hindi । 26 जनवरी की शायरी

26 january ki shayari in hindi & 26 january par shayari – नमस्कार दोस्तो जैसा कि आप सभी जानते हैं कि इस बार हम 26 जनवरी 2019 को भारत में 70वाँ गणतंत्र दिवस मनाया जायेगा. गणतंत्र दिवस पर आप सभी को Technical Diwanji की तरफ से बहुत बहुत बंधाई. दोस्तो इस दिन पूरा देश देश-भक्ति के रंग में डूब जाता है. हम सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हैं. तो आज हम आपके लिए गणतंत्र दिवस शायरी republic day shayari in hindi लेकर आये हैं. आप इन 26 january ki shayari in hindi को अपने सभी मित्रों व रिश्तेदारों को भजकर गणतंत्र दिवस की बंधाई दे सकते हैं.

26 january ki shayari in hindi

26 january ki shayari in hindi । 26 january par shayari

दोस्तो य़हां हमने 26 जनवरी पर की शायरी 26 january ki shayari in hindi को शेयर किया गया है. मुझे उम्मीद है कि आपको 26 जनवरी पर शायरी 26 january par shayari पसंद आयेंगी.

संस्कार, संस्कृति और शान मिले,
ऐसे हिन्दू, मुस्लिम और हिंदुस्तान मिले,
रहे हम सब ऐसे मिल-झुल कर,
मंदिर में अल्लाह और मस्जिद में भगवान मिले।
गणतंत्र दिवस की हार्दिक बधाई।

नहीं सिर्फ जश्न मनाना, नहीं सिर्फ झंडे लहराना
ये काफी नहीं है वतन पर, यादों को नहीं भुलाना
जो कुर्बान हुए उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना
खुदा के लिए नही ज़िन्दगी वतन के लिए लुटाना
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा,
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा,
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए,
कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये।

ना जियो धर्म के नाम पर
ना मरो धर्म के नाम पर
इंसानियत ही है धर्म वतन का
बस जियो वतन के नाम पर
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

आज़ादी का जोश कभी कम ना होने देंगे
जब भी ज़रूरत पड़ेगी देश के लिए जान लुटा देंगे
क्योंकि भारत हमारा देश है
अब दोबारा इस पर कोई आंच ना आने देंगे
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

Republic day shayari in hindi –  गणतंत्र दिवस शायरी

भूख, गरीबी, लाचारी को, इस धरती से आज मिटायें,
भारत के भारतवासी को, उसके सब अधिकार दिलायें
आओ सब मिलकर नये रूप में गणतंत्र मनायें ।
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

आज शहीदों ने है तुमको, अहले वतन ललकारा
तोड़ो गुलामी की जंजीरें, बरसाओ अंगारा
हिन्दू-मुस्लिम-सिख हमारा, भाई-भाई प्यारा
यह है आजादी का झंडा, इसे सलाम हमारा
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

भूख, गरीबी, लाचारी को
इस धरती से आज मिटायें
भारत के भारतवासी को
उसके सब अधिकार दिलायें
आओ सब मिलकर नये रूप में गणतंत्र मनायें
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

लहराएगा तिरंगा अब सारे आस्मां पर,
भारत का नाम होगा सब की जुबान पर,
ले लेंगे उसकी जान या दे देंगे अपनी जान,
कोई जो उठाएगा आँख हमारे हिंदुस्तान पर।

चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले
चलो फिर से आज वो नजारा याद कर ले
शहीदों के दिलो में थी जो वो ज्वाला याद कर ले
जिसमे बहकर आजादी पहुची थी किनारे पे
जिसमे बहकर आजादी पहुची थी किनारे पे
देशभक्ति के खून की वो धारा याद कर ले
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

वतन हमारा ऐसे ना छोड़ पाए कोई
रिश्ता हमारा ऐसे ना तोड़ पाए कोई
दिल हमारा एक है एक है हमारी जान
हिन्दुस्तान हमारा है हम है इसकी शान
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

26 january ki shayari in hindi – 26 जनवरी की शायरी

ये नफरत बुरी है ना पालो इसे
दिलों में नफरत है निकालो इसे
ना तेरा, ना मेरा, ना इसका, ना उसका
ये सब का वतन है बचालो इसे
जय हिन्द जय भारत वन्दे मातरम

ये बात हवाओ को बताये रखना
रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर जिसकी हिफाज़त हमने की
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना
जय हिन्द

ना मरो सनम बेवफा के लिए
ना मरो सनम बेवफ़ा के लिए
2 गज जमीन नही मिलेगी दफन के लिए
मरना है तो मरो अपने वतन के लिए
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी कफ़न के लिए
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

इतनी सी बात हवाओ को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाए रखना
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत हमने
ऐसे तिरंगे को हमेशा अपने दिल में बसाए रखना
जय हिन्द जय भारत

खुशनसीब होते है वो लोग जो वतन पर मिट जाते है
मर कर भी वो लोग सदा के लिए अमर हो जाते है
करते है तुम्हे सलाम-ऐ-वतन पर मिटने वालो
तुम्हारी हर एक साँस में बसता तिरंगे का नसीब है
जय हिन्द

मै भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ
मुझे चिंता नही है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

26 january par shayari –  26 जनवरी पर शायरी

तैरना है तो समंदर में तैरो
नदी नालों में क्या रखा है
प्यार करना है तो वतन से करो
इस बेवफ़ा लोगों में क्या रखा है
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं

वतन हमारा ऐसा कोई ना छोड पाये
रिश्ता हमारा ऐसा कोई न तोड़ पाये
दिल एक है जान एक है हमारी
हिन्दुस्तान हमारा है यह शान हैं हमारी
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

मैं इसका हनुमान हूँ
ये देश मेरा राम है
छाती चीर के देख लो
अन्दर बैठा हिन्दुस्तान है
जय हिंदी जय भारत

आज शहीदों ने है तुमको, अहले वतन ललकारा
तोड़ो गुलामी की जंजीरें, बरसाओ अंगारा
हिन्दू-मुस्लिम-सिख हमारा, भाई-भाई प्यारा
यह है आजादी का झंडा, इसे सलाम हमारा
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

भारत के गणतंत्र का, सारे जग में मान
दशकों से खिल रही, उसकी अद्भुत शान
सब धर्मो को देकर मान रचा गया इतिहास का
इसलिए हर देशवासी को इसमें है विश्वास
गणतंत्र दिवस की ढ़ेरो शुभकामनाए

दाग गुलामी का धोया है जान लुटा कर
दीप जलाये है कितने दीप बुझा कर
मिली है जब ये आज़ादी तो फिर से इस आज़ादी को
रखना होगा हर दुश्मन से आज बचाकर
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

कुछ नशा तिरंगे की आन है
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है
हम लहराएँगे हर जगह ये तिरंगा
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है
जय हिन्द

चलो फिर से खुद को जागते है
अनुसासन का डंडा फिर घुमाते है
सुनहरा रंग है गणतंत्र का शहीदों के लहू से
ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है
आपको गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें

देश भक्तो के बलिदान से
स्वतन्त्र हुए है हम
कोई पूछे कौन हो
तो गर्व से कहेंगे
भारतीय है हम
हैप्पी गणतंत्र दिवस

मुझे उम्मीद है कि आपको गणतंत्र दिवस पर शायरी republic day shayari in hindi पसंद आयी होंगी, आप इन 26 जनवरी की शायरी को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover latest Indian Blogs