X

Agniveer Yojana Kya hai:- अग्निवीर बनने के लिए योग्यता एवं उनका वेतन

भारत के रक्षा मंत्रालय ने हाल ही में तीनों सेनाओं में नौजवानों को भर्ती करने के लिए अग्निपथ योजना की शुरुआत की है, लेकिन देश के कई राज्यों में अग्निपथ योजना को लेकर उग्र प्रदर्शन होने लगे हैं. विरोध करने वाले लोगों में इस बात का आक्रोश है कि Agniveer Yojana से जो अग्निवीर भर्ती होंगे वो चार साल बाद क्या करेंगे? कहां जाएंगे?

अग्निवीर योजना ( Agniveer Yojana )

भारतीय सेना में भर्ती को लेकर अब तक का सबसे बड़ा बदलाव हुआ है। आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में अब अग्निपथ स्कीम के तहत अग्निवीर की भर्ती होगी। ये सैनिक होंगे, लेकिन इनका रैंक मौजूदा रैंक से अलग होगा और ये अग्निवीर ही कहलाएंगे। ये अग्निवीर आर्मी, नेवी या एयरफोर्स में चार साल के लिए रहेंगे। इन अग्निवीरों में से ही अधिकतम 25 पर्सेंट को फिर बाद में परमानेंट होने का मौका दिया जाएगा, हालांकि बीते दिन से शुरू हुए बवाल के बाद रक्षा मंत्रालय ने सिर्फ इस साल (2022) की अग्निवीरों की भर्ती की उम्र 21 साल से बढाकर 23 साल कर दी है।
इस योजना के तहत पुरुष के साथ साथ महिलाएं भी सशस्त्र बलो मे शामिल की जाएगी।

अग्निवीर आर्मी आयु सीमा

इसे दशकों पुरानी सेना भर्ती प्रणाली में बड़ा बदलाव माना जा रहा है। इसके तहत साढ़े 17 से 21 साल के युवाओं को सेना के तीनों अंगों में शामिल किया जाएगा। चार साल की सेवा पूरी होने पर 25 प्रतिशत को नियमित सेवा में रखा जाएगा, वहीं 4 में से 3 अग्निवीर (Agniveer) आगे सेवा जारी नहीं रख पाएंगे। उनके लिए सरकार शिक्षा, नौकरी व कारोबार के लिए कई अन्य विकल्प पेश कर रही है।

प्रत्येक अग्निवीर द्वारा प्राप्त कौशल के आधार पर एक प्रमाणपत्र मिलेगा। अग्निवीर के कार्यकाल के बाद नागरिक दुनिया में उनकी प्रगति के लिए अन्‍य रास्ते और अवसर खुलेंगे. लगभग 11.71 लाख रुपये की सेवा निधि अग्निवीर सेवा समाप्‍ती पर मिलेगी. सेना के अन्‍य विंग और राज्‍यों की पुलिस भर्ती के अलावा शासकीय भर्ती में 10 प्रतिशत कोटा तय कर दिया गया है।

अग्निवीर के लिए योग्यता

  • अग्निवीर बनने के लिए कम से कम 17.5 आयु होना चाहिये।
  • पढाई कम से कम 10th/12th पास होना अनिवार्य है।
  • मानसिक और फ‍िजिकल फ‍िट होना चाहिये।
  • सेना के द्वारा ली जाने वाली भर्ती प्रक्रिया को पास करना होगा. जिसमें रिटर्न, फ‍िजिकल होगा।
  • अग्निपथ योजना (Agniveer Yojana) में कोई भी भारतीय नागरिक आवेदन कर सकता है।

अग्निवीरो का वेतन

साल महीनेवार वेतन कैश इन हैण्ड फण्ड
पहली 30000 21000 9000
दूसरी 33000 23100 9900
तीसरी 36500 25580 10920
चौथी 40000 28000 12000

अग्निवीरो को सेवा निधि पैकेज के तहत मासिक सैलरी का 30% कटेगा और 30% रकम सरकार अग्निवीर के खाते मे जमा करेगी।
चार साल की सेवा पूरी होने पर अग्निवीर को सेवा निधि के रूप मे सरकार 11,71000/- रूपये (फण्ड) देगी।

वीरगति को प्राप्त हुए तो..

सभी अग्निवीरो (Agniveer) का 48 लाख रुपये का नॉन प्रीमियम इंश्योरेंस कवर होगा।
ड्यूटी के दौरान वीरगति प्राप्त होने पर 44 लाख रूपये का अतिरिक्त अनुग्रह राशि मिलेगी।
अग्निवीर के परिवार को सेवा निधि सहित नौकरी की बाकी बची अवधि का पूरी सैलरी का भुगतान होगा।

अग्निवीर दिव्यांग हुए तो..

प्रतिशत राशि
100% 44 लाख
75% 25 लाख
50% 15 लाख

अग्निवीर की पढाई का क्या होगा?

राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) रक्षा अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श कर 10वीं कक्षा पास कर अग्निपथ सेवा में आने वाले अग्निवीरों (Agniveer) को 12वीं का प्रमाणपत्र प्रदान करने के लिए एक विशेष प्रोग्राम तैयार करेगा। इसके तहत अग्निवीरों के लिए विशेष रूप से तैयार कोर्स शुरू किए जाएंगे जो उनके सेवा क्षेत्र के हिसाब से प्रासंगिक होगा। शिक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। 12वीं का यह प्रमाणपत्र सिर्फ रोजगार के लिए ही नहीं बल्कि आगे की शिक्षा के लिए भी पूरे देश में मान्य होगा।

सेना के अधिकारियों ने बताया कि पहले साल अग्निवीरों का सेना में अनुपात बहुत बेहिसाबी नहीं होगा। इस योजना के तहत नियुक्त जवानों का प्रदर्शन चार साल बाद परखकर उन्हें फिर सेना में शामिल किया जाएगा। ऐसे में सेना को सुपरवाइजर रैंक के लिए जांचे-परखे लोग मिलेंगे।

75% अग्निवीरो का क्या होगा?

चार साल के बाद सेना की सेवा से बाहर होने वाले 75 फीसदी अग्निवीरों (Agniveer) को पेंशन नहीं मिलेगी, लेकिन केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इन्हें कई सरकारी नौकरियों में वरीयता देने की बात कही है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट के जरिए अग्निवीरों को अर्द्धसैनिक बलों यानी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीआरपीएफ) और असम राइफल्स की भर्ती में वरीयता देने की बात कही है।
वहीं उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भी ट्वीट के जरिए अग्निवीरों को प्रदेश की पुलिस व अन्य सेवाओं में वरीयता देने का ऐलान किया है।

डिफेन्स सर्विस में 4 साल तक सेवा करने का मौका देने वाला भारत एकलौता देश नहीं है, इजराइल, रूस समेत ऐसे कई देश हैं जहां हर युवा को 12th के बाद सेना में 4 साल के लिए काम करना ही पड़ता है. लेकिन भारत में अग्निपथ योजना (Agniveer Yojana) युवाओं के लिए कोई बाध्यता नहीं अवसर है. जिनको ज्वाइन करना है कर सकता है, जिनको नहीं करना है मत करे।

इसे भी जाने ….

NSA Act in Hindi:- NSA लागू कब होता और इसकी सजा कितनी होती है?

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की स्थापना कब हुई और शामिल होने के फायदे क्या है?

Rahul Pal: