X
    Categories: Technology

इंटरनेट क्या है? इतिहास, महत्व, लाभ, हानि एवं उपयोग -What is internet in Hindi

इंटरनेट क्या है? (What is internet in Hindi): इंटरनेट Information technology की सबसे आधुनिक प्रणाली है। इंटरनेट को आप विभिन्न कंप्यूटर नेटवर्को का एक विश्व स्तरीय समूह (नेटवर्क) कह सकते है।  इस नेटवर्क में हजारों और लाखो कंप्यूटर एक दुसरे से जुड़े होते है। साधारणत: कंप्यूटर को टेलीफोन लाइन के माध्यम से modem द्वारा इंटरनेट से जोड़ाजाता है। लेकिन इसके अतिरिक्तभी बहुत से साधन है। जिसमे कंप्यूटर इंटरनेट से जुड़ सकता है।

इंटरनेट किसी एक कंपनी या सरकार के अधीन नही होता है, अपितु इसमें बहुत से सर्वर (Server) जुड़ेहोते हैं, जो अलग-अलग संस्‍थाओं या प्रायवेट कंप‍नीयों के होते हैं। कुछ प्रचलित इंटरनेट सेवाएं जैस file transfer protocol, World wide web का प्रयोग इंटरनेट मे जानकारीयॉं प्राप्‍त करने के लिए होता हैं। इंटरनेट को हम विश्‍वव्‍यापी विज्ञापन का माध्‍यम कह सकते हैं। किसी उत्पाद के बारे में विश्‍वस्‍तर पर सर्वेक्षण करने के लिए यह सबसे आसान एवं सस्‍ता माध्‍यम हैं। विभिन्‍न जानकारीयॉं जैसे रिपोर्ट, लेख, आदि को प्रदर्शित करने का बहुत उपयोगी साधन हैं।

इन्टरनेट क्लाइंट सर्वर आर्किटेक्चर पर आधारित है जिसमे आपका कंप्यूटर या मोबाइल जो इन्टरनेट पर मौजूद सूचनाओं का प्रयोग कर रहे हैं वो क्लाइंट कहलाते हैं और जहाँ यह सुचना सुरक्षित रखी है उन्हें हम सर्वर कहते हैं।

प्रायः इन्टरनेट पर मौजूद सूचनाओ को देखने के लिए हम वेब ब्राउज़र (Web Browser) का प्रयोग करते हैं, ये client program होते है तथा हायपर टेक्स्ट दस्तावेजो के साथ संवाद करने और उन्हें प्रदर्शित करने में सक्षम होते है | वेब ब्राउजर का यूज कर इन्टरनेट पर उपलब्ध विभिन्न सेवाओ का यूज कर सकते है|

इन्टरनेट का इतिहास (History of Internet)

मूलतः इन्टरनेट का प्रयोग अमेरिका की सेना के लिए किया गया था। शीत युद्ध के समय अमेरिकन सेना एक अच्छी, बड़ी, विश्वसनीय संचार सेवा चाहती थी | 1969 में ARPANET नाम का एक नेटवर्क बनाया गया जो चार कंप्यूटर को जोड़ कर बनाया गया था, तब इन्टरनेट की प्रगति सही तरीके से चालू हुई | 1972 तक इसमें जुड़ने वाले कंप्यूटर की संख्या 37 हो गई थी | 1973 तक इसका विस्तार इंग्लैंड और नार्वे तक हो गया | 1974 में Arpanet को सामान्य लोगो के लिए प्रयोग में लाया गया, जिसे टेलनेट के नाम से जाना गया | 1982 में नेटवर्क के लिए सामान्य नियम बनाये गए इन्हें प्रोटोकॉल कहा जाता है| इन प्रोटोकॉल को TCP/IP (Transmission control protocol/Internet Protocol) के नाम से जाना गया | 1990 में Arpanet को समाप्त कर दिया गया तथा नेटवर्क ऑफ नेटवर्क के रुप में इन्टरनेट बना रहा | वर्तमान में इन्टरनेट के माध्यम से लाखो या करोंड़ों कंप्यूटर एक दूसरे से जुड़े है | (VSNL)विदेश संचार निगम लिमिटेड भारत में इन्टरनेट के लिए नेटवर्क की सेवाए प्रदान करती है |

इंटरनेट के लाभ  (Benifit of Internet)

ऑनलाइन बिल पे (Online Bills Pay)

इंटरनेट की मदद से आसानी से हम घर बैठे अपने सभी बिलों का भुगतान कर सकते हैं।इंटरनेट पर हम क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग की मदद से कुछ ही मिनटों में बिजली, टेलीफोन, डीटीएच, या ऑनलाइन शॉपिंग के सभी बिलों का भुगतान कर सकते हैं।

सूचना भेज और प्राप्त कर सकते हैं (Send and receive information)

भले ही आप विश्व के किसी भी कोने में बैठे हो एक जगह से दूसरी जगह कई प्रकार की जानकारियाँ या सूचना कुछ ही सेकंड में भेज और प्राप्त कर सकते हैं। आज इंटरनेट पर वॉइस कॉल, वॉइस मैसेज, ई-मेल, वीडियो कॉल, कर सकते हैं और साथी कई प्रकार के अन्य फाइल भी भेज सकते हैं।

ऑनलाइन ऑफिस (Online office)

ऐसी कुछ बड़ी कंपनियां है जो अपने कर्मचारियों के लिए घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से काम करने की सुविधा देते हैं। कई ऐसी ऑनलाइन मार्केटिंग और कम्युनिकेशन से जुड़ी कंपनियां है जिसके कर्मचारी अपने घर पर ही लैपटॉप और मोबाइल फोन परइंटरनेट के माध्यम से मार्केटिंग का काम करते हैं।

ऑनलाइन शॉपिंग (Online Shopping)

अब लोगों को बार-बार दुकान जाने की आवश्यकता भी नहीं है क्योंकि अब आप घर बैठे इंटरनेट की मदद से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते हैं और बिना कोई मोल-भाव किए सस्ते दामों मैं सामान खरीद सकते हैं। ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट की मदद से आज सिर्फ आप सामान खरीद सकते हैं बल्कि आप चाहें तो अपने परिवार और रिश्तेदारों को गिफ्ट भी भेज सकते हैं।

व्यापार को बढ़ावा (Business promotion)

जैसे की हम जानते हैं कि, अब इंटरनेट घर-घर में अपनी जगह बना चुका है। इसीलिए इंटरनेट के माध्यम से अगर आप चाहें तो अपने व्यापार को बहुत आगे ले जा सकते हैं। विश्व की सभी बड़ी कंपनियां अपने व्यापार को और आगे ले जाने के लिए इंटरनेट की मदद ले रहीं हैं। विश्व की सभी कंपनियां ऑनलाइन एडवरटाइजिंग, एफिलिएट मार्केटिंग और वेबसाइट की मदद से अपने व्यापार को इंटरनेट के माध्यम से पूरे विश्व भर में फ़ैलाने की कोशिश कर रहे हैं।

ऑनलाइन नौकरी की जानकारी व आवेदन (Online job details and Application)

अब नौकरियों के लिए आवेदन और जानकारी प्राप्त करना भी बहुत आसान हो गया है।अब कोई भी आसानी से घर बैठे जॉब पोर्टल वेबसाइट की मदद से किसी भी नौकरी के विषय में जान सकते हैं और उनके वेबसाइट पर जाकर नौकरी के लिए आवेदन भी कर सकते हैं।

फ्रीलांसिंग (Freelancing)

धीरे-धीरे इंटरनेट पर फ्रीलांसर बढ़ते जा रहे हैं जो फ्रीलांसिंग के माध्यम से बहुत अच्छा पैसा कमा रहे हैं। फ्रीलांसर का अर्थ होता है इंटरनेट पर अपने कौशल का इस्तेमाल करके कुछ पैसा कमाना। आज इंटरनेट पर लोग वेबसाइट बनाकर, ऑनलाइन सर्वे, एफिलिएट मार्केटिंग, ब्लॉगिंग, YouTube पर वीडियो अपलोड करके और कई अन्य तरीकों से घर बैठे पैसा कमा रहे हैं।

मनोरंजन (Entertainment)

इस आधुनिक युग में अब इंटरनेट घर-घर में मनोरंजन का साधन बन चुका है। खाली समय में हम इंटरनेट की मदद से गाना सुन सकते हैं, फिल्में और टेलीविज़न देख सकते हैं। साथ ही हम ऑनलाइन अपने दोस्तों से सोशल मीडिया या सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर चैट भी कर सकते हैं।

इंटरनेट से हानियाँ (Disadvantages of Internet )

समय की बर्बादी (Waste of time)

जो लोग इंटरनेट को अपने ऑफ़िस के काम के लिए और जानकारी लेने के लिए उपयोग करते हैं उनके लिए तो इंटरनेट बहुत लाभदायक होता है परन्तु जो लोग बिना किसी मतलब इसे अपनी आदत बना लेते हैं उनके लिए यह समय की बर्बादी के अलावा और कुछ नहीं। हमें इंटरनेट को समय के अनुसार उपयोग करना चाहिये ।

इन्टरनेट फ्री नहीं होता है (Internet is not free)

इंटरनेट का कनेक्शन तभी हमें लेना चाहिए जब हमें इसकी ज़रुरत हो क्योंकि लगभग सभी इंटरनेट प्रदान करने वाली कंपनियां इंटरनेट का भारी चार्ज लेते हैं। अगर आपको इंटरनेट की आवश्यकता ज्यादा नहीं पड़ती है तो आप कोई प्री-पेड इंटरनेट सर्विस ले सकते हैं जिसकी मदद से आप जब चाहें तब रिचार्ज करवा कर इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं।

शोषण, अश्लीलता और हिंसक छवियां

इंटरनेट पर संचार की गति बहुत तेज़ है। इस लिए लोग अपने किसी दुश्मन या जिसको बदनाम करना चाहते हों उसने विषय में ऑनलाइन गलत प्रचार करके शोषण और अनुचित लाभ उठाते हैं। साथ ही इंटरनेट पर कई ऐसे वेबसाइट हैं जिन पर अश्लील चीजें हैं जिनके कारण कम उम्र के बच्चों को गलत शिक्षा मिल रही है।

पहचान की चोरी, हैकिंग, वायरस और धोखाधड़ी

क्या आपको पता है आप जिन भी वेबसाइट पर अपना अकाउंट रजिस्टर करते हैं उनमें से लगभग 50-60% कंपनियां आपके निजी जानकारियों को बेचती हैं या उनका दुरुपयोग करती है। कुछ लोग इंटरनेट की मदद से आपके जरूरी जानकारियों को भी हैक कर सकते हैं।अभी हाल ही में विश्व भर के कई कंप्यूटर पर Ransom ware Attackहुआ था जिसमें कई लोगों का करोड़ों का नुक्सान हुआ। इंटरनेट के माध्यम से ही हमारे कंप्यूटर और मोबाइल फ़ोन पर वायरस आने का ख़तरा रहता है इसलिए एक अच्छा एंटीवायरस प्रोटेक्शन का होना बहुत ज़रूरी होता है।

स्पैम ई-मेल और विज्ञापन (Spam emails and Advertisements)

इंटरनेट से लोगों की निजी जानकारियाँ और Email Id को चुरा कर कई धोखेबाज़ कंपनियां झूठे ई-मेल भेजती हैं जिनसे वो उन्हें ठगते हैं। उन्ही ई-मेल का रिप्लाई भेजें जिनकी आपको आवश्यकता है। अनजाने ई-मेल को तुरंत स्पैम (Spam) की लिस्ट में भेज दें या delete कर दें। कुछ भी ई-मेल के लिंक से ना खरीदे , हमेशा किसी बड़ी शॉपिंग वेबसाइट पर सीधे जाकर समान खरीदे।

इंटरनेट की लत और स्वास्थ्य प्रभाव (Internet Addiction & Health Effects)

दुनिया में वह शराब की लत हो या किसी और चीज की शरीर के लिए ठीक नहीं होता है। कई ऐसे लोग होते हैं जो इंटरनेट के बिना न खाते हैं और ना पीते हैं। इंटरनेट से भी कईप्रकार के बुरे स्वास्थ्य प्रभाव पड़ते हैं जैसे वज़न बढना, पैरों और हाथों में दर्द, आँखों में दर्द और सूखापन, कार्पल टनल सिंड्रोम, मानसिक तनाव, कमर में दर्द आदि।

इंटरनेट का महत्व (Importance of internet in Hindi)

इंटरनेट एक वैश्विक नेटवर्क है जो पूरी दुनिया में लाखों कंप्यूटरों को जोड़ता है। यह पूरे दिन की गतिविधियों को पूरा करने में बहुत सरल और आसान हो गया है जो उन दिनों का प्रबंधन करने में बहुत समय ले रहे थे और कठिन थे। इंटरनेट नामक इस महान आविष्कार के बिना हम अपना जीवन नहीं सोच सकते।इंटरनेट के कारण, ऑनलाइन संचार बहुत आसान और सरल हो गया है।

पहले संचार का तरीका उन पत्रों के माध्यम से था जो बहुत समय ले रहे थे और कठिन था क्योंकि एक लंबी दूरी की यात्रा करनी थी। लेकिन अब, हमें बस कुछ सेकंड के भीतर संदेश भेजने के लिए कुछ सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट खोलने और जी-मेल या अन्य अकाउंट (याहू, आदि) खोलने के लिए अपने को इंटरनेट से कनेक्ट करने की आवश्यकता है।

इसने कार्यालयों (सरकारी या गैर-सरकारी), स्कूलों, कॉलेजों, शैक्षणिक संस्थानों, प्रशिक्षण केंद्रों, गैर सरकारी संगठनों, विश्वविद्यालयों, दुकानों, व्यापार, उद्योगों, रेलवे में सब कुछ कम्प्यूटरीकृत करके कागज़ और कागज़ के काम को काफी हद तक कम कर दिया है।

इस इंटरनेट का उपयोग करके हम एक जगह से दुनिया भर के सभी समाचार समय-समय पर प्राप्त कर सकते हैं। यह बहुत बड़ी जानकारी इकट्ठा करने में बहुत प्रभावी और कुशल है। इसने शिक्षा, यात्रा और व्यावसायिक क्षेत्रों को बड़े स्तर पर लाभान्वित किया है। इसने प्रासंगिक विषयों को खोजने के लिए ऑनलाइन सार्वजनिक पुस्तकालयों, पाठ्य पुस्तकों या अन्य संसाधनों तक पहुंचआसान बनाई है।

पहले के समय में जब लोग इंटरनेट के बिना थे, उन्हें किसी भी प्रकार के काम के लिए बहुत समय बर्बाद करना पड़ता था, जैसे कि लंबी कतारों में खड़े होकर यात्रा टिकट प्राप्त करने के लिए अपने नंबर की प्रतीक्षा करना। लेकिन इंटरनेट के आधुनिक समय में, कोई भी कुछ ही क्लिक में ऑनलाइन ट्रेन बुक कर सकता है और प्रिंटआउट के माध्यम से यात्रा टिकट प्राप्त कर सकता है या अपने मोबाइल में सॉफ्ट कॉपी प्राप्त कर सकता है।

इंटरनेट की दुनिया में, किसी को व्यापार या अन्य उद्देश्यों के लिए उसकी बैठक के लिए लंबी दूरी की यात्रा करने की आवश्यकता नहीं है। वीडियो कॉलिंग, कॉन्फ्रेंसिंग, स्काइप या अन्य उपकरणों के उपयोग के माध्यम से अपने कार्यालय से ऑनलाइन अपनी बैठक में भाग ले सकते हैं।

यह उसकी इच्छित स्कूल, कॉलेज या विश्वविद्यालयों में ऑनलाइन प्रवेश पाने में मदद करता है, अत्यधिक कुशल कर्मचारियों और शिक्षकों, व्यावसायिक लेनदेन, बैंकिंग लेन-देन, ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन करना, धन हस्तांतरण, खाना पकाने की विधि सीखना, बिल भुगतान,  ऑनलाइन खरीदारी आदि गतिविधियों को अंजाम देने में मदद करता है।

इंटरनेट का प्रभाव (Effect of Internet in Hindi)

आधुनिक समय में, इंटरनेट दुनिया भर में सबसे शक्तिशाली और दिलचस्प संसाधनों में से एक है। इंटरनेट के इस्तेमाल से हम वर्ल्ड वाइड वेब को किसी भी जगह से एक्सेस कर सकते हैं।

यह हमें ई-मेल, सर्फिंग सर्च इंजन, सोशल मीडिया, वेबसाइटों का उपयोग करने वाली हस्तियों से जुड़ने, वेब पोर्टल तक पहुँचने, सूचनात्मक वेबसाइट खोलने, वीडियो चैट करने और कई अन्य सुविधाएं प्रदान करता है। यह हर किसी का सबसे अच्छा दोस्त बन गया है अब एक दिन, लगभग हर कोई कई उद्देश्यों के लिए इंटरनेट कनेक्शन का उपयोग कर रहा है। हालांकि, हमें अपने जीवन में इंटरनेट का उपयोग करने के सभी नुकसान और फायदे जानना चाहिए।

इंटरनेट की उपलब्धता छात्रों के लिए बहुत उपयोगी है, लेकिन यह उनके लिए बहुत बड़ी चिंता का विषय है क्योंकि वे अपने माता-पिता से गुप्त रूप से कुछ बुरी वेबसाइटों तक पहुंच सकते हैं जो उनके पूरे जीवन के लिए बहुत हानिकारक है। अधिकांश माता-पिता इस प्रकार के खतरे का एहसास करते हैं लेकिन कुछ नहीं और इंटरनेट का खुले तौर पर उपयोग करते हैं। इसलिए, बच्चों को अपने माता-पिता के उचित मार्गदर्शन में इंटरनेट सुविधा का उपयोग करना चाहिए।

हम अपने कीमती ऑनलाइन डेटा का उपयोग करने के लिए दूसरों को रोकने के लिए उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का उपयोग करके सुरक्षा प्रणाली का उपयोग कर सकते हैं। इंटरनेट हमें मित्रों, माता-पिता या शिक्षकों को त्वरित संदेश भेजने के लिए त्वरित संदेश का समर्थन करने वाले किसी भी एप्लिकेशन प्रोग्राम का उपयोग करने की अनुमति देता है।

हालांकि, कुछ अन्य देशों जैसे- उत्तर कोरिया, म्यांमार, आदि में इंटरनेट का उपयोग करना पूरी तरह से निषिद्ध है क्योंकि उन्हें लगता है कि यह उनके लिए बुरी बात है। कभी-कभी इंटरनेट हमारे कंप्यूटर को नुकसान पहुंचा सकता है क्योंकि इंटरनेट वेबसाइटों से सीधे कुछ भी डाउनलोड करने से हमारे कंप्यूटर में कुछ वायरस, एडवेयर, मैलवेयर, स्पायवेयर या अन्य खराब प्रोग्राम आ सकते हैं जो कंप्यूटर के काम-काज को बिगाड़ या नष्ट कर सकते हैं। कभी-कभी, हैकर्स पासवर्ड की सुरक्षा के बाद भी हमारी जानकारी के बिना इंटरनेट का उपयोग करके हमारी गुप्त कंप्यूटर जानकारी को हैक कर सकते हैं।

शिक्षा में इंटरनेट के उपयोग (Uses of Internet in Education)-

इन्टरनेट के उपयोगों के बारे में हम भली-भाँति जानते है लेकिन आज हम इन्टरनेट का शिक्षा (education) में क्या उपयोग है और कहाँ-कहाँ होता है इसके बारे विस्तार से जानेंगे।पिछले 20 वर्षों में technology की बहुत ज्यादा प्रगति हुई है । जिसके दौरान डेस्कटॉप कम्प्यूटर और इंटरनेट का विकास किया गया है।

1.वेब शिक्षक(The Web Teacher)-वेब शिक्षक(web teacher) जिसने अपनी हस्त कला को बढ़िया ढंग से सीख रखा है,उनके पास आगे बढ़ रही technology को अनुकूल बनाये जा सकने वाला हस्तानांतरित किए जाने योग्य skill और ज्ञान होगा।ऐसे अस्थिर  हस्तान्तरित किये जाने वाले ज्ञान का लाभ स्पष्ट रूप से प्रत्यक्ष है।

2.दूरस्थ शिक्षा(Distance Learning)-जैसे-जैसे इन्टरनेट का खर्च घट रहा है,बहुत से यूनिवर्सिटी कक्षा के लाभों को दूरस्थ शिक्षा की व्यवस्था में लाने के ढंग ढूंढ रहे है। डिस्टेंस लर्निग (distance learning) को शिक्षा के एक औधोगिक कृत रूप में वर्णित किया गया है।जिसकी कुछ विशेषताये होती है-प्रक्रिया को बुद्धिसंगत बनाना, श्रम का विभाजन और बहु मात्रा में उत्तपन्नइन्टरनेट दूरस्थ शिक्षा और शिक्षण को आसान बनाता है।

 3.योग्यताओ का प्रयोग (Moulding of abilities)- Internet शिक्षा प्रक्रिया(education process) के उच्च स्तर का अर्थ है-सीखने में योग्यताओ का विशिष्ट पयोग करना।

4.वेब आधारित शिक्षण और शिक्षा(web based teachings and learning)जानकारी आधारित साईटों के साथ एकीकृत किये जाने पर शिक्षा की बढ़ती हुई मांग और नई तकनीकों द्वारा छात्रों की बढ़ती हुई अभिप्रेरणा को ध्यान में रखते हुए वेब आधारित शिक्षण और शिक्षा में प्रभावशीलता पर गंभीर रूप से विचार किये जाने  की आवश्यकता है।

5.ऑनलाइन शिक्षा का तीव्र विकास(Rapid Development of online Education)-वर्तमान में ऑनलाइन शिक्षाका इतनी तेजी से विकास हो रहा है कि इसका अनुसरण करना बहुत कठिन हो गया है।पूर्व अनुमान किया गया है कि योग्य ऑनलाइन शिक्षकों की भारी रूप से कमी हो गई है।

Technicalworld: