X

जाति प्रमाण पत्र क्या हैं, बनाने की प्रक्रिया, फार्म डाउनलोड करें

जाति प्रमाण पत्र आवेदन । Jati Praman Patra kya hota hai | जाति प्रमाण पत्र के लाभ| आवेदन के लिए पात्रता  जाति प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

जैसा की हम जानते हैं कि भारतीय समाज में कुछ जाति विशेष को लेकर भेदभाव की अवधारणा व्याप्त हैं| इस भेदभाव प्रणाली के परिणामस्वरूप, सरकार ने महसूस किया कि अनुसूचित जातियों और जनजातियों को देश के बाकी लोगों की तरह ही समान गति से प्रगति करने के लिए विशेष प्रोत्साहन और अवसरों की आवश्यकता है। इस बात के मद्देनजर भारतीय संविधान में, नागरिकों की इस श्रेणी को कुछ विशेष विशेषाधिकार दिये गए हैं| इस विशेषाधिकार को प्राप्त करने के लिए जाती प्रमाण पत्र का होना आवश्यक हैं|

जाति प्रमाण पत्र क्या हैं -Jati Praman Patra kya hota hai

जाति प्रमाण पत्र एक कानूनी दस्तावेज है जो प्रमाणित करता है कि एक व्यक्ति किसी विशेष जाति, समुदाय और धर्म से संबंधित है। देश के नागरिकों को सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली विभिन्न प्रकार की सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने की आवश्यकता है। विशेष रूप से आरक्षित वर्ग (एससी, एसटी या ओबीसी) के लोगों के लिए अपनी उम्मीदवारी स्थापित करने के लिए, जाति प्रमाण पत्र अनिवार्य है। इस लेख में, हम जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे में जानेंगे|

जाति प्रमाण पत्र के लाभ – Benifits of Caste Certificate

जैसा कि ऊपर उल्लेख किया गया है, जाति प्रमाण-पत्र मुख्य रूप से उन श्रेणियों के लोगो की विशेष मदद करता हैं जो अनुसूचित जातियों, जनजातियों या अन्य पिछड़े वर्गों  में आते हैं| ये लोग जाती प्रमाणपत्र की मदद से निंलिखित लाभों को प्राप्त करने में सक्षम होते हैं:-

  • विधान सभाओं में सीटों का आरक्षण प्राप्त करना
  • सरकारी सेवा में आरक्षण प्राप्त करना
  • स्कूलों और कॉलेजों में प्रवेश के लिए एक हिस्सा या पूरी फीस में छूट प्राप्त करना
  • शिक्षण संस्थानों में कोटा प्राप्त करने के लिए
  • विशिष्ट नौकरियों में आवेदन करने के लिए उच्चतम आयु छूट सीमा प्राप्त करना
  • छात्रवृत्ति के लिए आवेदन करने के लिए
  • सरकारी अनुदान प्राप्त करने के लिए
  • सरकार द्वारा प्रदान की गई योजनाओं के पंजीकरण के लिए

उपयुक्त सभी विशेषाधिकारों का लाभ उठाने के लिए, SC या ST या BC से संबंधित जाति का प्रमाण पत्र होना आवश्यक हैं|

पात्रता मापदंड

जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए पात्रता मानदंड नीचे सूचीबद्ध है:

  • स्थानीय निवासी को ही प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा|
  • यदि आवेदक का नाम स्थानीय सरकार द्वारा जारी ओबीसी, एससी या एसटी सूची में है, तो वह जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन कर सकता है|

आवश्यक दस्तावेज़ Necessary Documents

 जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों को प्रस्तुत करना आवश्यक होता हैं;-

  • आवेदन पत्र
  • पिता का जाति प्रमाण पत्र
  • 10 रूपये का हलफनामा
  • एड्रेस प्रूफ – राशन कार्ड, वोटर आईडी, किरयानामा, टेलीफोन बिल या बिजली जमा कर सकते हैं|
  • आय प्रमाण पत्र
  • संबंधित पटवारी की रिपोर्ट
  • आवेदक का फोटो
  • आवेदन पत्र में दो सरकारी कर्मचारियों के प्रमाण पत्र

लागू शुल्क

  • तहसील कार्यालय में जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने का कोई शुल्क नहीं लगता है।
  • हालांकि, आवेदक को आवेदन पत्र के साथ 2 रुपये का कोर्ट शुल्क टिकट देना आवश्यक होगा।
  • यदि आवेदक ई-मित्रा स्थानीय सेवा केंद्र के माध्यम से आवेदन कर रहा है, तो उसे प्रमाण पत्र प्रसंस्करण के लिए सेवा शुल्क देना होगा।

तहसील कार्यालय ऑफलाइन के माध्यम से जाती प्रमाण पत्र कैसे बनवाये

जाति प्रमाणपत्र बनाने के लिए हमे एक आवेदन पत्र भरना पड़ता  हैं, जिसे आप या तो ऑनलाइन या संबंधित स्थानीय कार्यालय शहर / कस्बे / गांव, जो की आमतौर पर एसडीएम (उप-विभागीय मजिस्ट्रेट), तहसील या राजस्व विभाग के कार्यालय में उपलब्ध होता है, से प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपके परिवार के किसी भी सदस्य को पहले जाति प्रमाण पत्र जारी नहीं किया गया है, तो आपको प्रमाण पत्र जारी करने से पहले एक स्थानीय जांच की जाती है।

जाति प्रमाण पत्र बनाने की चरणबद्ध प्रक्रिया निम्नलिखित है:

चरण 1: सर्वप्रथम जाति श्रेणी के अनुसार विधिवत रूप से आवेदन पत्र को भरें। एससी या एसटी और एसबीसी या ओबीसी श्रेणी के लिए अलग आवेदन पत्र उपलब्ध होते है।

चरण 2: आवेदन में दिये गए स्थान पर पासपोर्ट आकार की तस्वीर चिपकाएँ।

चरण 3: आवेदन फॉर्म के साथ 2 रूपये का कोर्ट फीस टिकट संलग्न करे|

चरण 4: सरकार की सूची के अनुसार, तहसील कार्यालय में सक्षम जन प्रतिनिधियों के सामने मांगे गए जानकारी को सत्यापित करें।

चरण 5: तहसील में सभी आवश्यक दस्तावेजों को आवेदन के साथ संलग्न करें।

आवेदन पत्र को संसाधित करने के बाद, संबंधित तहसील अधिकारी इसमे दिये हुए जानकारी की पुष्टि के पश्चात जाति प्रमाण पत्र जारी कर देगा| चूकी, संबन्धित अधिकारी को दिये गए जानकारी के सत्यापन की पुष्टि करनी पड़ती हैं, इसलिए इन सारी प्रक्रियाओ में कुछ वक्त लगता हैं|

ई-मित्रा केंद्र के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन की सुविधा

जैसा की हम जानते हैं, हमारे यहाँ 30 प्रतिशत से अधिक अनुसूचित जाति आर्थिक रूप से,  गरीबी रेखा के नीचे रहते हैं और शैक्षिक रूप से भी वे बहुत पिछड़े हुए हैं| ऐसे में प्रश्न उठता हैं कि ऐसे लोग जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए कहा जाए, उन्हे इस बात का ज्ञान भी नहीं होता हैं| इन लोगो को सुविधा प्रदान करने के लिए सरकार ने ई-मित्र की व्यवस्था का शुभारंभ किया हैं|

 ई-मित्र केंद्र के माध्यम से जाति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया नीचे विस्तार से बताई गई है:

चरण 1: निकटतम ई-मित्रा केंद्र पर जाएँ| आवेदक को ई-मित्रा केंद्र में जाति प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

चरण 2: ई-मित्रा केंद्र के व्यक्ति को सभी आवश्यक दस्तावेज (जैसा कि ऊपर बताया गया है) जमा करें। जाति प्रमाण पत्र के लिए अनुरोध संबंधित प्राधिकारी को ऑनलाइन भेजा जाएगा।

ई-मित्र ऑपरेटर आवेदक संख्या के साथ एक रसीद जारी करेगा, और आवेदक को पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस और मेल-आईडी पर मेल भी मिलेगा। आवेदन की प्रगति एसएमएस के माध्यम से भी अपडेट की जाएगी।

चरण 3: संबंधित विभाग जाति प्रमाण पत्र के अनुरोध को संसाधित करेगा, और सफल सत्यापन के बाद, प्राधिकृत सरकारी अधिकारी जाति प्रमाण पत्र जारी करेगा।

चरण 4: आवेदक का आय प्रमाण पत्र पढ़ लेने के बाद, एक एसएमएस भेजा जाएगा। किसी भी केंद्र का पुनरीक्षण करके आप इस प्रमाण पत्र को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं|

उम्मीद हैं कि इस लेख को पढ़ने के बाद आप जाति प्रमाणपत्र बनवाने के योजनबद्ध तरीको से अवगत हो जायेंगे| सरकार भी इस दिशा में लगातार कार्य कर रही हैं कि लोगो को संबन्धित प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए कठिन सरकारी प्रक्रियाओं से न गुजरना पड़े|

जाति प्रमाण पत्र के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न और उनके उत्तर (FAQ’s)

जाति प्रमाण पत्र में क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आपको आवेदन पत्र, पिता का जाति प्रमाण पत्र, 10 रूपये का हलफनामा, एड्रेस प्रूफ – राशन कार्ड, वोटर आईडी, किरयानामा, टेलीफोन बिल या बिजली जमा कर सकते हैं|, आय प्रमाण पत्र, संबंधित पटवारी की रिपोर्ट, आवेदक का फोटो, आवेदन पत्र में दो सरकारी कर्मचारियों के प्रमाण पत्र आदि दस्तावेजों को प्रस्तुत करना आवश्यक होता हैं;-

जाति प्रमाण पत्र क्या होता है?

जाति प्रमाण पत्र एक कानूनी दस्तावेज है जो प्रमाणित करता है कि एक व्यक्ति किसी विशेष जाति, समुदाय और धर्म से संबंधित है। विशेष रूप से आरक्षित वर्ग (एससी, एसटी या ओबीसी) के लोगों के लिए अपनी उम्मीदवारी स्थापित करने के लिए, जाति प्रमाण पत्र अनिवार्य है। इस लेख में, हम जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे में जानेंगे|

जाति प्रमाण पत्र कैसे बनता है?

जाति प्रमाण पत्र को बनवाने के लिए सर्वप्रथम जाति श्रेणी के अनुसार विधिवत रूप से आवेदन पत्र को भरें। एससी या एसटी और एसबीसी या ओबीसी श्रेणी के लिए अलग आवेदन पत्र उपलब्ध होते है। इसके बाद  आवेदन में दिये गए स्थान पर पासपोर्ट आकार की तस्वीर चिपकाएँ। इसके उपरांत आवेदन फॉर्म के साथ 2 रूपये का कोर्ट फीस टिकट संलग्न करे| फिर सरकार की सूची के अनुसार, तहसील कार्यालय में सक्षम जन प्रतिनिधियों के सामने मांगे गए जानकारी को सत्यापित करें। तहसील में सभी आवश्यक दस्तावेजों को आवेदन के साथ संलग्न करें। आवेदन पत्र को संसाधित करने के बाद, संबंधित तहसील अधिकारी इसमे दिये हुए जानकारी की पुष्टि के पश्चात जाति प्रमाण पत्र जारी कर देगा| चूकी, संबन्धित अधिकारी को दिये गए जानकारी के सत्यापन की पुष्टि करनी पड़ती हैं, इसलिए इन सारी प्रक्रियाओ में कुछ वक्त लगता हैं|

जाति प्रमाण पत्र कब तक मान्य होता है?

यह प्रमाण पत्र तब तक वैध होता है जब तक कि भारत सरकार या राज्य सरकार की ओर से कोई नया आरक्षण नियम अथवा जाति सूची संशोधन न किया जाय। अभी तक के नियमों के अनुसार, जाति प्रमाण पत्र परीक्षा फॉर्म भरने के समय से 3 साल पहले तक ही बने होने चाहिए या नौकरी में आने के बाद कैंडिडेट्स को अधिकतम 180 दिनों के भीतर जाति प्रमाण पत्र देना होता है।

जाति प्रमाण पत्र कहाँ बनता है?

आवेदन प्रपत्र ऑनलाइन या शहर/नगर/गांव में स्‍थानीय संबंधित कार्यालय में उपलब्‍ध होता है, जो सामान्‍यता एसडीएम का कार्यालय (सब डिविज़नल मजिस्‍ट्रेट) या तहसील या राजस्‍व विभाग होता है। यदि आपके परिवार के किसी भी सदस्‍य को पहले जाति प्रमाणपत्र जारी करने के पहले स्‍थानीय पूछताछ की जाती है।

जाति प्रमाण पत्र ऑनलाइन कैसे बनाएं?

जाति प्रमाण पत्र को ऑनलाइन ई-मित्र केंद्र पर जाकर वहां जाति प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। ई-मित्रा केंद्र के व्यक्ति को सभी आवश्यक दस्तावेज (जैसा कि ऊपर बताया गया है) जमा करें। जाति प्रमाण पत्र के लिए अनुरोध संबंधित प्राधिकारी को ऑनलाइन भेजा जाएगा। ई-मित्र ऑपरेटर आवेदक संख्या के साथ एक रसीद जारी करेगा, और आवेदक को पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस और मेल-आईडी पर मेल भी मिलेगा। आवेदन की प्रगति एसएमएस के माध्यम से भी अपडेट की जाएगी। संबंधित विभाग जाति प्रमाण पत्र के अनुरोध को संसाधित करेगा, और सफल सत्यापन के बाद, प्राधिकृत सरकारी अधिकारी जाति प्रमाण पत्र जारी करेगा। आवेदक का आय प्रमाण पत्र पढ़ लेने के बाद, एक एसएमएस भेजा जाएगा। किसी भी केंद्र का पुनरीक्षण करके आप इस प्रमाण पत्र को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं|

Technicalworld: