Browse By

NPS scheme क्या है और n.p.s के फायदे क्या हैं NPS scheme details in hindi

NPS scheme क्या है और n.p.s के फायदे क्या हैं : आज कल अपने भविष्य को लेकर हर कोई चिंतित रहता है और उसे सिक्योर करना चाहता है! मौजूदा समय में आपके पास बचत के कई विकल्प हैं। ऐसी ही एक स्कीम है NPS (नेशनल पेंशन स्कीम या एनपीएस). इस स्कीम की सबसे अच्छी बात यह कि इसे सरकारी कर्मचारी हो या प्राइवेट चाहे वह किसान क्यों न हो प्रत्येक व्यक्ति खोल सकता है. न्यू पेंशन स्कीम का एकाउंट ऑफलाइन के साथ ऑनलाइन भी खोला जा सकता है। आइये जानते है राष्ट्रीय पेंशन योजना या एनपीएस के बारे में विस्तार से-

nps-scheme-details-in-hindi

NPS क्या है-What is NPS?

न्यू पेंशन स्कीम या नैशनल पेंशन स्कीम(national pension scheme) एक रिटायरमेंट सेविंग खाता है. भारत सरकार द्वारा 10 अक्टूबर 2003 में पेंशन फंड नियामक एवं विकास प्राधिकरण(Pension Fund Regulatory & Development Authority) की थी जिसे भारत सरकार ने 1 जनवरी 2004 को लांच कर दिया था। जानकारी के लिए बता दें इस तारीख के बाद सरकारी विभागों में नियुक्ति पाने वाले सभी अधिकारी/कर्मचारियों(आर्मी को छोड़कर) के लिए इस योजना को अनिवार्य कर दिया गया। इसके पश्चात इस स्कीम को प्राइवेट नौकरी करने वाले लोगों के लिए भी वर्ष 2009 में खोल दिया गया। वर्तमान समय में इस योजना का लाभ कोई भी व्यक्ति चाहे वह सरकारी हो या प्राइवेट यहां तक किसान भी उठा सकते हैं। NPS में खाता खोलने के लिए उम्र 18 से 65 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

Read More:

एनपीएस खाता कैसे खुलता है-How To Open NPS Account?

भारत सरकार द्वारा सम्पूर्ण भारत में Point Of Presence(POP) बनाए हैं, जिनमें खाता ओपेन कराया जा सकता है। इसके साथ ही लगभग सभी सरकारी व प्राइवेट बैंको को पोओपी बनाया गया हैं आप अपने नजदीक की बैंक शाखा में जाकर खाता खुलवा सकते हैं।

NPS खाता खुलवाने के लिए जरूरी कागजात (Document)

1.रजिस्ट्रेशन फार्म जो बैंक से मिलेगा पूरा भरा हुआ।
2.निवास प्रमाण पत्र
3.एक आईडी कार्ड
4.जन्म प्रमाण-पत्र या 10th का सर्टिफिकेट

NPS एकाउंट के प्रकार- Type of NPS Account in Hindi

इस पेंशन स्कीम में दो तरह के एकाउंट होते हैं, जिसमें पहला टियर-1 और दूसरा टियर-2। प्रत्येक खाताधारक को एक परमानेंट रिटायरमेंट अकाउंट नंबर कार्ड दिया जाता है जिस पर 12 अंको का एक कोड होता है वही कोड लेन-देन में काम करता है।

टियर-1 – यह नॉन विड्रावल सेविंग एकाउंड है यानि इस अकाउंट में जो भी धनराशि जमा की जाती है उसे रिटायरमेंट या 65 वर्ष के बाद ही निकाल सकते हैं।

टियर – 2 : यह एक साधारण सेविंग अकाउंट की तरह काम करता है जिससे अकाउंट होल्डर अपनी इच्छा से इसमें पैसा जमा कर सकते हैं और निकाल भी सकते है। यह अकाउंट कोई भी खोल सकता है।

विस्तार से जानें Tier 1 और Tier-2 क्या हैं कितना पैसा जमा करना पड़ता है-

बिन्दु – 

मुख्य बिन्दुTier 1Tier-2
अकांउंट खुलवाते समय न्यूनतम /अधिकतम धनराशि सीमाकम से कम 500 रूपये, अधिकतम राशि की कोई सीमा नहींकम से कम 1000 रूपये, अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं
न्यूनतम मासिक किस्त500 रूपये250 रूपये
न्यूतम वार्षिक किस्त6000 रूपये2000 रूपये
टैक्स लाभ80 सी के तहत छूटनहीं


आपके द्वारा जमा पैसा कहां इन्वेस्ट होता है-

खाताधारक अपने खाते में जो भी पैसा जमा करता है उसको इन्वेस्ट करने की जिम्मेदारी पीएफआरडीए द्वारा रजिस्टर्ड पेंशन फंड मैनेजर का होता है। यहां कुछ फंड मैंनेजर है जिनका चुनाव आप अपनी इच्छा से कर सकते हैं

इनकम टैक्स में छूट-National pension scheme tax benefit

सरकारी कर्मचारी की बेसिक सैलरी और डीए पर 10 फीसदी तक की जमा रकम पर (80 सी की सीमा 1 लाख के भीतर) टैक्स का फायदा मिलेगा। वहीं प्राइवेट कर्मचारी की ग्रास टोटल इनकम पर 10 फीसदी तक (80 सी की सीमा 1 लाख के भीतर) टैक्स का फायदा मिलेगा।

Read Moreनिवेश के लिए 5 बेहतर विकल्प

कितनी पैसा मिलेगा-

उदाहरण- मान लीजिए की आपकी उम्र 30 वर्ष है और आप अभी से एनपीएस में प्रत्येक माह 10,000 रूपये निवेश कर रहे हैं। यदि आपको निवेश पर औसतन 10% रिटर्न मिलता है तो रिटायरमेंट तक यानि 60 वर्ष की उम्र तक एनपीएस फंड करीब 2 करोड़ 28 लाख रूपये हो जायेगा। इस स्कीम की नियमों के मुताविक रिटायरमेंट के समय आपको कुल फंड का कम से कम 40 फीसदी अन्युटी प्लान को परचेज करने में खर्च करना पड़ेगा। बचे हुआ पैसा आपको लंप सम अमाउंट के तौर पर मिल जायेगा। ऐसे में यदि आप 50 प्रतिशत का एन्युटी प्लान खरीदते हैं तब भी आपको करीब 1 करोड़ 14 लाख रूपये रिटायरमेंट के समय मिलेगा।

कितनी पेंशन मिलेगी-

उदाहरण के अनुसार यदि आपके एन्युटी प्लान पर 5 फीसदी भी रिटर्न मिलता है तो हर माह करीब 47000 रूपये प्रतिमाह पेंशन मिलेगी।

स्कीम से बाहर आने पर क्या होगा-

अकाउंट धारक को रियारमेंट के बाद पेंशन मिलेगी। रिटारमेंट के बाद वह टियर-1 के तहत पैसा निकाल सकता है। यदि अकाउंट धारक की मृत्यु हो जाती है तो पूरा पैसा नॉमिनी को मिलेगा।

Read More :

4 thoughts on “NPS scheme क्या है और n.p.s के फायदे क्या हैं NPS scheme details in hindi”

  1. JAWAHAR LAL says:

    MORE INFORMATION ABOUT POST OFFICE SAVING ACCOUNT

  2. Dr Awadhesh Kr Das says:

    I am a permanent medical officer in Bihar government service .From my monthly salary GPF has been deducting .I am eligible to open NPS account or not ? Secondly , the amount deposited in NPS scheme ,can l deduct this amount in 80CCD(1B) in income tax return schedule

  3. SUSHIL KUMAR says:

    My age is 47 years and Now I want to invest Rs. 5000/- per month in NPS A/C under Tier 1. What amount will be return back to me after 65 years or what about monthly pension.

  4. Prashant says:

    महाराष्ट्र राज्य मे सरकारी कर्मीयों को 2005 के बाद से DCPS की सूविधा दी जा रही है,ईसलिए DCPS के साथ ही क्या हम सरकारी कर्मी NPS tier-1मे बॅक मे खाता शूरू कर सकते है ?? साथ ही हमारे गैर सरकारी फॅमिली सदस्स पत्नी एंव बच्चे NPS tier-2 मे खाता खोल सकते है ??आैर साथ ही क्या हम PPF के कई खाते फॅमिली में हर एक के नाम से निकाल सकते है क्या.??क्रपया मेरे इन तिनो प्रश्नो के ऊत्तर जल्द दे..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover latest Indian Blogs