X

PPF Details in hindi & PPFwithdrawal rules in hindi पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड (पीपीएफ अकाउंट)

PPF Details in hindi & PPFwithdrawal rules in hindi – प्रिय पाठको हम जो कमाते हैं सभी खर्चे काटने के बाद हमारे पास Income का जो भाग बचता हैं उसे ही हम Savings के नाम से जानते हैं. इस बचे हुए Money को कुछ लोग जिन्हे ज्यादा समझ नहीं होती है या किसी झंझट में नहीं पड़ना चाहते हैं वह अपनी Savings को अपने पास ही Cash के रूप में रखते हैं, वहीं कुछ लोग उनसे ज्यादा समझदार होते हैं वह उसको किसी Safe Instument जैसे Fixed Deposit, Saving Account, Recuring Deposit आदि में Invest करते हैं।

वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो चाहते हैं कि इस पैसे को ऐसी जगह Invest किया जाये जिससे उन्हे Monthly Income हो सके, वे अपने पैसे को Monthly income Scheme में Invest  करते हैं. इसके अलावा कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो चाहते हैं कि हमे अपनी Savings से अच्छा Return Earn करना चाहते हैं इस कारण वह अपनी Savings को Share Market, Equity Fund, Debt Fund व Mutual Fund आदि में Invest करके ज्यादा से ज्यादा Return Earn करके अपने धन को बढ़ाना चाहते हैं।

आपके पास जमा पैसे को Invest करने के इनके अलावा भी कई सारे विकल्प मौजूद हैं, उन्हीं में से एक है Public Provident Fund Scheme ( PPF account ).

Read More- Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi full detail

What is ppf account in hindi –पीपीएफ खाता क्या है?

Public Provident Fund Scheme ( पब्लिक प्रोविडेंट फंड) जिसे PPF Account के नाम से भी जाना जाता हैं। सरकार द्वारा इसे सन् 1968 में Long Term Investment को बढ़ावा देने के लिए Introduce किया गया था। यह बचत योजना  ट्रिपल ई श्रेणी (Triple E Category) या Exempt-Exempt-Exempt में रखी जाती है। इसका मतलब है की इस Saving Scheme में Invest करने पर आपको निवेश प्रक्रिया Start करने से लेकर Last में Redemption के समय तक, कहीं भी और किसी भी स्तर पर कोई टैक्स नहीं देना होता है।

इसकी शुरूवात भारत सरकार द्वारा 1968 में Unorganised Sector में लगे कर्मचारियों के लिए शुरू की गयी थी। उस समय इन कर्मचारियों के लिए Pension और EPF आदि की व्यवस्था नहीं थी। उस समय लोगों के पास ऐसा कोई साधन नहीं था जिससे वो Retirement के बाद किसी भी Investment की एकमुश्त राशि को प्राप्त कर सकें। तब सरकार ने PPF Saving Scheme को शुरू किया और अधिक से अधिक लोग इस ओर आकर्षित हो सकें इसके लिए इस स्कीम को Tax Free Investment के रूप में प्रचारित किया गया।

पीपीएफ एकाउंट के लिए जरूरी अर्हताएं व निवेश सीमा – Eligibility And Investment Iimit of ppf account holder

PPF Account एक Single Account होता है जिसे कोई भी वयस्क व्यक्ति स्वंय अपने लिए या अपने बच्चों के नाम से खोल सकता हैं, इसके साथ ही पति- पत्नी यह Account अपने नाम से अलग-अलग भी खुलवा सकते हैं। इसके अलावा कोई भी विदेशी या NRI भी PPF Account को खुलवा सकता है।

PPF Account Period – योजना की अवधि

PPF Account ( Public Provident Fund ) की अवधि या Lock in Period 15 वर्ष की होती है। इसके बाद यदि खाता धारक (Account Holder) चाहता है तो वह 1 साल या 5 साल के लिए इस अवधि को बढ़ा सकता है। PPF Account Maturity के बाद यदि कोई अपने पैसों को न निकालना चाहे तो उस धनराशि पर भी Interest मिलता रहता है।

PPF Interest Rate – ब्याज की दर

PPF Account पर 1 अप्रैल 2016 से लागू नियमानुसार 8.10% वार्षिक चक्रबृद्धि की दर से ब्याज प्रत्येक बर्ष की 31 मार्च को Account Holder के खाते में जमा हो जायेगा। Interest प्रत्येक माह के 5वें दिन से लेकर महीने के अंत के बीच न्यूनतम बैलेंस पर लगता है।

PPF Investment Limit – निवेश सीमा

PPF Account Investment में आप अगस्त 2014 के नियमानुसार कम से कम 500 रू0 और ज्यादा से ज्यादा(Maximum Limit) 1.50 लाख(डेढ़ लाख) सालाना जमा (Yearly Deposit) कर सकते हैं। यदि कोई इससे ज्यादा जमा करता हैं तो उस धन पर आपको किसी भी प्रकार का की ब्याज नहीं मिलता है और न ही Tax में छूट मिलती है।

Deposit Frequency- निवेश कितनी बार कर सकते हैं

कोई भी व्यक्ति अपने PPF Account में राशि एकमुश्त या साल भर में 12 किश्तों की एक अधिकतम में जमा करा सकता है।

PPFwithdrawal rules in hindi– पीपीएफ से धन निकासी

PPF Account का Maturity Period 15 Years होता है और PPF Account में Deposit संपूर्ण Amount को केवल तभी Withdraw किया जा सकता है जब PPF Account Mature हो जाता है।

लेकिन ऐसा जरूरी नहीं है कि जब आपका PPF Account Mature होगा तभी आप आप Account में Deposit Amount Withdraw कर सकते हैं बल्कि आवश्यकता होने पर आप चाहे तो अपने PPF Account में Deposit Amount में से 50% Partial Withdraw भी कर सकते हैं।

लेकिन Premature Withdraw भी आप तभी कर सकते हैं जब आपके PPF Account को Open किए हुए 7 Years Complete हो चुके हो।

Tex Benefits – कर लाभ

PPF Scheme में किये गये जमा धन को Income Tax Act, 1961 के Section 80C के अन्तर्गत Maximum 150000 रूपये तक की Income पर Tex Benefits भी मिल सकता है। सके साथ ही आपकी जमा राशि पर जो ब्याज मिलता है वह भी Tax Free होता है।

How to Open PPF Account – पीपीएफ खाता कैसे खोलें

PPF Account खुलवाने के लिए आप Post Office अथवा Government के द्वारा Specify किए गए Nationalized Bank Branch में जाकर Open सकते है। इसके आलावा आप चाहे तो Internate Banking का इस्तेमाल कर Online PPF Account  भी Open करवा सकते हैं।

Post Office अथवा Bank में जाकर PPF Account Open करवाने के लिए आपको PPF Account Opening Form भरकर Submit करना होगा। यह Form आप संबन्धित Post Office या Bank Branch से अथवा Online Download करके प्राप्‍त कर सकते हैं।

इस Form के साथ Account Holder का ID Proof, Address Proof, Photograph व Account Holder के बाद PPF Account में जमा धना किसे मिलना चाहिए इसके लिए Nomination Form Fill करके संलग्न करना होगा।

जब आपका PPF Account Open हो जाता है तो जिस तरह से आपको Bank Account Open होने के समय एक Passbook Issue की जाती है, ठीक उसी तरह से Post Office या बैंक के द्वारा PPF Account Open होने के बाद एक Passbook Issue की जाती है। इस Passbook में आपके द्वारा PPF Account में किए जाने वाले Deposit, Withdrawal तथा Account में Credit होने वाले Interest से संबन्धित Transactions की Entry की जाती है।

इस Passbook की सबसे ज्‍यादा आवश्‍यकता तब होती है जब आप अपने PPF के लिए Income Tax Act, 1961 के Sections 80C के अंतर्गत Tax Benefits/Deductions के लिए Claim करना चाहते हैं।

आप चाहें तो PPF Account को Bank की Official Website Visit करके Online भी Open करवाया जा सकता है। Online Account Open करने से Users बहुत सारे Benefits मिलते हैं जैसे समय बच जाता है, मेहनत कम करनी पड़ती है, Travelling Cost बच जाती है, Banks की लम्‍बी-लम्‍बी Line से बच जाना पड़ता है।

प्रिय पाठको मुझे उम्मीद है कि आपको ppf details in hindi, ppf account calculator, ppf calculator in hindi, ppf withdrawal rules in hindi, details ppf policy in hindi के बारे में दी गयी जानकारी पसंद आयी होगी. यदि कुछ और जानकारी चाहिए या कुछ समझ नहीं आया तो कमेंट करके जरूर पूछें.

 

 

Technicalworld: