X

RIP Full Form in Hindi: RIP का मतलव क्या होता है?

रोजमर्रा की जिंदगी में बोलचाल के लिए हम कई शब्दों का इस्तेमाल करते हैं। इनमें से कुछ शब्द ऐसे भी होते हैं जिन्हें बोलने के लिए हम Short Form का इस्तेमाल करते हैं। कई बार तो हमें इनका Full Form तक पता नहीं होता, लेकिन कई लोग इनका इस्तेमाल करते हैं तो हम भी इन्हें बोलते लगते हैं, लेकिन इनका पूरा अर्थ हमें नहीं पता होता है।
अगर आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं तो R.I.P or RIP शब्द जरुर ही कहीं देखा या सुना होगा। क्योकि अकसर लोग सोशल साईट जैसे WhatsApp, Facebook, Instagram और twitter आदि पे ही इस शब्द को इस्तेमाल करते हैं।

RIP का अर्थ

लोग सोशल मीडिया में short form का इस्तेमाल बहुत ज्यादा करते हैं उदाहरण के तौर पर good morning को Gm, good night को Gn, Gd ni8, और Brother को bro लिखते-बोलते हैं। short form यूज़ करने के पीछे दो कारण हैं, एक तो इससे समय बचता है और दूसरा ये फैशन या स्टाइल बन जाता है।
आजकल “RIP” शब्द बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है. यह देखकर आपके मन यह बात तो जरुर आई होगी की आखिर RIP का Full Form क्या होता है?
RIP का अर्थ होता है….

  • R – Rest
  • I – In
  • P – Peace

यह लैटिन शब्द Requiescat in Pace से बना है।
RIP शब्द को बोलने या लिखने का तात्पर्य मरे हुए इंसान की आत्मा को शांति पहुंचाना होता है। इसके माध्यम से व्यक्ति ईश्वर से प्रार्थना करता है कि मृत व्यक्ति की आत्मा को शान्ति प्रदान करें। आज इन्टरनेट के कारण सोशल मीडिया पर भारी मात्र में लोगों के द्वारा RIP का इस्तेमाल किया जाता है

RIP का मतलव

कोई भी व्यक्ति RIP कहकर, भगवान से प्रार्थना करता है, उस व्यक्ति को शांति प्रदान करें जिसकी मृत्यु हो गई है। मृत्यु के बाद ईसाई धर्म में, शरीर को जमीन में दफनाने के बाद, उस पर REST IN PEACE (RIP) लिखते हैं।

RIP शब्द का प्रयोग मृतकों को श्रद्धांजलि देने के लिए किया जाता है। आज, RIP शब्द का सोशल मीडिया पर अधिक से अधिक उपयोग किया जा रहा है। जब भी कोई ऐसे Post को देखता है जिसमें किसी की मृत्यु हुई हो। उसमें वह RIP का Full Form लिखने के बजाय, उनके लिए एक छोटा शब्द RIP लिख देता है, जिसका मकसद होता है उस मरे हुए व्यक्ति के आत्मा को शांति पहुँचाने के लिए भगवान् से विनती करना या उस व्यक्ति को श्रद्धांजलि देना।

जब कोई मर जाता है तो हम उसकी मृत्यु पे ये कामना करते हैं की उसकी आत्मा को शांति मिले और बोलते भी यही हैं पर यही बात अगर इंग्लिश में बोलना हो, अगर इंग्लिश में कामना करनी हो तो बोलते हैं “Rest In Peace” यानि RIP।

RPI का हिन्दू धर्म मे महत्व

मित्रों कई लोग इस शब्द के इस्तेमाल को उचित नहीं मानते। वह इसे विदेशी नकल की संज्ञा देते हैं। उनका मानना है कि हिंदू धर्म में मृत व्यक्ति को जलाए जाने की परंपरा रही है। हिंदी धर्म की मान्यता के अनुसार शरीर नश्वर है, आत्मा अमर है। मनुष्य की मृत्यु होते ही उसकी आत्मा निकलकर किसी दूसरे नए जीव में, काया में, शरीर में, नवजात में प्रवेश कर जाती है।
इसके साथ ही शांतिपाठ आयोजित किए जाते हैं। श्रदांजलि प्रदान की जाती है। ऐसे में उनके लिए RIP लिखा जाना उचित नहीं है। यह उनके लिए उचित है, जिनको कब्र में दफनाया गया है कि उनकी आत्मा कब्र में शांति से आराम करे। हिंदू धर्म के व्यक्तियों की मृत्यु पर यही लिखना उचित है कि ईश्वर मृत व्यक्ति की आत्मा को शांति प्रदान करें।

R I P शब्द की उत्पत्ति

  • जब इसाई धर्म में या अंग्रेज कोई मर जाता है तो उसे दफनाया जाता है और उसकी कब्र पे लिख दिया जाता है “Rest In Peace”
  • 18 वीं शताब्दी के अंत में इसे ईसाईयों द्वारा व्यापक रूप से दफनाने के लिए इस्तेमाल किया गया था।
  • इंग्लिश धीरे धीरे काफी लोकप्रिय होती जा रही है और काफी लोगो द्वारा इंग्लिश लिखी-बोली जा रही है इसलिए हम सभी के द्वारा rest in peace को भी काफी पोपुलर हो गया है।
  • मुस्लिम और ईसाई धर्म में मृत्यु के पश्चात व्यक्ति को दफनाए जाने की परंपरा है।

जहां पहले किसी व्यक्ति की मृत्यु पर श्रदांजलि दिए जाने का चलन था। वहीं, अब हिंदी शब्दों का इस्तेमाल लगभग गायब ही हो गया है, या यूं कह सकते हैं कि इनका प्रयोग बेहद सीमित होकर रह गया है। जिस तरह अन्य शब्दों के लिए शार्टकट ढूंढकर इस्तेमाल किए जाने लगे हैं, उसी तरह अब शार्टकट की वजह से लोग किसी की मृत्यु पर RIP शब्द का अधिक इस्तेमाल करते हैं। इसे समय बचाने की प्रक्रिया भी कहा जा सकता है। इसे चलन भी कहा जा सकता है। यह भी कह सकते हैं कि हिंदी शब्दों के प्रयोग के स्थान पर RIP शब्द का इस्तेमाल कहीं अधिक सुविधाजनक है।

इसे भी जाने……

NSA Act in Hindi:- NSA लागू कब होता और इसकी सजा कितनी होती है?

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की स्थापना कब हुई और शामिल होने के फायदे क्या है?

Rahul Pal: