Festivals & Events

दिवाली पर हिंदी कविता । Short poem on diwali in hindi & English । diwali ki kavita

Poem on diwali in hindi : दिवाली (Diwali ) जिसे हम दीपावली(Deepavali) के नाम से भी जानते हैं, यह त्यौहार भारत में हिन्दुओं द्वारा बहुत ही उत्सुकता के साथ धूमधाम से मनाया जाता हैं. Diwali को हम festival of lights के रूप में जानते हैं. आज हम यहां आपके लिए  Inspirational Diwali Poems in Hindi & English Language का बहुत ही सुन्दर कलैक्शन लेकर आये हैं. आप इन Heart Touching short poem on diwali in hindi & English, diwali ki kavita, Diwali Kavita in Hindi, Deepavali Poetry in Hindi को भेजकर शुभकामनाएं दे सकते हैं. Wish you Happy Diwali

Read More– Happy Diwali Wishes SMS

happy diwali images

Short poem on diwali in hindi

जगमग-जगमग दीप जलें
रोशन घर का हो हर कोना।
प्रकाश के जैसा उज्जवल तन हो
जन-जन स्वजन और निर्मल मन हो।
रोशनी का आगाज जहां हो
चतुम वहां हो हम वहां हों।
दूर तम के अंधकार हों
मीठे सुर हों मीठी ताल हो।
शुभकामनाएं यही हमारी
सतरंगी हर दीवाली हो
शुभ दीपावली।।

Poem on diwali in hindi by harivansh rai bachchan

साथी, घर-घर आज दिवाली!
फैल गयी दीपों की माला
मंदिर-मंदिर में उजियाला,
किंतु हमारे घर का, देखो, दर काला, दीवारें काली!
साथी, घर-घर आज दिवाली!

हास उमंग हृदय में भर-भर
घूम रहा गृह-गृह पथ-पथ पर,
किंतु हमारे घर के अंदर डरा हुआ सूनापन खाली!
साथी, घर-घर आज दिवाली!

आँख हमारी नभ-मंडल पर,
वही हमारा नीलम का घर,
दीप मालिका मना रही है रात हमारी तारोंवाली!
साथी, घर-घर आज दिवाली!
– हरिवंशराय बच्चन

REad MoreDhanteras images 2018

Poem on diwali in hindi । diwali ki kavita

जगमग सबकी मने दिवाली,
खुशी उछालें भर-भर थाली।
खील खिलौने और बताशे,
खूब बजाएं बाजे ताशे।
ज्योति-पर्व है,ज्योति जलाएं,
मन के तम को दूर भगाएं।
दीप जलाएं सबके घर पर,
जो नम आँखें उनके घर पर।
हर मन में जब दीप जलेगा,
तभी दिवाली पर्व मनेगा।
खुशियाँ सबके घर-घर बाँटें,
तिमिर कुहासा मन का छाँटें।
धूम धड़ाका खुशी मनाएं,
सभी जगह पर दीप जलाएं।
कोई कोना ऐसा हो ना,
जिसमें जलता दीप दिखे ना।
देखो, ऊपर नभ में थाली,
चन्दा के घर मनी दिवाली।
देखो, ढ़ेरों दीप जले हैं,
नहीं पटाखे वहाँ चले हैं।
कैसी सुन्दर हवा वहाँ है,
बोलो कैसी हवा यहाँ है।
सुनो, पटाखे नहीं चलाएं,
धुआँ, धुन्ध से मुक्ति पाए।

– आनन्द विश्वास

Read More– Happy Dhanteras wishes Hindi

Diwali poem in English

Dip jalao diwali aayi,
Dur andhera bhagao diwali aayi,
Hai bahar khushiyo ki aayi
Dip jalao diwali aayi.

Sukh samrdhi or khushiya,
Le ma laxmi ghar aayi,
Dip jalao diwali aayi.

dukh mitane khushiya laane,
hai pawan roshni aaayi,
Dip jalao diwali aayi.
Shubh Diwali

Read More-

Poem on diwali in English

Deepavali is here, Deepavali is here
That grand festival of Lights
That ends evil after a protracted fight
When good with all its might
Leads us from darkness to Light.

Deepavali is here, Deepavali is here
That great festival of sound
When crackers and laughter abound
When crackers and sparklers light up the sky
When delighted children jump with joy.

Deepavali is here, Deepavali is here
That gorgeous festival of snacks and sweets
Where everyone enjoys a royal feast
When old and young with delight meet
With love and affection all hearts beat.

Diwali is here, Diwali is here
That gracious festival which celebrates victory
The ancient festival of myth and mystery
That is mentioned in both mythology and history
The festival that signals Triumph over Tragedy.
by: Shyam Phatak

Read More-

I Hope You Like Poem on diwali in hindi , diwali ki kavita , poem on diwali in English , short poem on diwali in hindi , diwali poem in English , diwali ki kavita. if you like Diwali Poems share on social media with friend & relatives.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Discover latest Indian Blogs