X

सुकन्या समृद्धि खाते की विशेषताएं व लाभ आदि की सम्पूर्ण जानकारी…

sukanya samriddhi yojana scheme in hindi – भारत बहुत विशाल देश है जिसमें गिरता हुआ लिंगानुपात हर किसी के लिए बहुत ही चिंता का विषय है। हमारे देश में महिलाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य एवं उनकी जरूरतों को लेकर व जागरूकता को लेकर भारत सरकार द्वारा बहुत सारी योजनाएं चलाईं जा रही हैं। इन्ही योजनाओं में से लड़कियों को शिक्षा और बढ़ावा देने के लिए एक योजना है सुकन्या समृद्धि योजाना।

हमारे समाज में बेटियों को लेकर जो धारणा होती है, इस योजना का उद्देश्य उस सोच को बदल कर उसकी पढ़ाई व शादी के लिए पैसे की टेंशन से दूर रखना है।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के अन्तर्गत सुकन्या समृद्धि खाता ( Sukanya Samridhhi Account) की शुरूआत 21 जनवरी 2015 में की।

इस योजना को देश के लोगों द्वारा पसंद ही नहीं बल्कि स्वीकार भी किया है, इसका सबसे बड़ा कारण है कन्याओं के हित में भारत सरकार द्वारा उठाया गया बहुत ही अच्छा कदम जिससे कन्याओं को वित्तीय सुरक्षा प्राप्त होती है।

Sukanya Samriddhi Yojna को खुलवाना बहुत ही आसान है, जिस तरह हम Bank Account खुलवाते हैं उसके बाद बैंक द्वारा हमे पासबुक दे दी जाती है, ठीक उसी प्रकार Sukanya Samriddhi Yojna का खाता खुलवाने पर भी सम्बन्धित बैंक द्वारा एक पासबुक दी जाती हैं जिसमें खाते से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी रहती है।

इस पासबुक को बैंक में तब लेकर जाना होता है जब आपको अपने Account में पैसा जमा करना हो, ब्याज लेना हो या फिर Account Mature हो जाने पर उसे बंद करना हो।

Read More– Mutual Fund In Hindi (mutual fund क्या है)

Features of Sukanya Samriddhi Yojna Account – सुकन्या समृद्धि खाते की विशेषताएं

सुकन्या समृद्धि योजाना (Sukanya Samridhi Yojna) के अन्तर्गत कोई भी व्यक्ति अपनी बेटी के जन्म से लेकर 10 साल तक की उम्र में खोला जा सकता हैं, इस योजनान्तर्गत कन्या के माता पिता या अभिभावक खाते की देख-रेख कर सकते हैं। कन्या की उम्र 10 वर्ष हो हो जाने के बाद वह स्वंय अपने खाते की देख-रेख कर सकती हैं, हालांकि खाते में पैसा उसके माता-पिता या अभिभावक द्वारा ही जमा किया जा सकता हैं।

  • एक लड़की के नाम पर आप केवल एक ही खाता खुलवा सकते हैं। यदि आप एक लड़की के नाम पर एक ज्यादा खाता खुलवात हैं तो इसके लिए आपको पेनाल्टी देनी पड़ सकती है।
  • यदि खाता धारक लड़की का विवाह 18 वर्ष से 21 वर्ष के बीच हो जाता है तो यह खाता उसी समय बंद हो जाता है।
  • इस खाते में प्रत्येक वर्ष जमा की जाने वाली न्यूनतम सीमा 1000 रूपये और अधिकतम सीमा एक लाख 50 हजार रूपये है।
  • आप एक फाइनेंन्सियल वर्ष में जितनी बार चाहे अपने खाते में रकम जमा कर सकते हैं, इस पर किसी भी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं है।
  • यहां ध्यान देने वाली बात यह भी है कि Sukanya Samriddhi Account आप केवल दो लड़कियों के नाम पर ही खुलवा सकते हैं, लेकिन यदि किसी केस में जुड़वा या तीन लड़कियां एक साथ जन्मी हैं तो प्रूफ देने पर खाता तीनों के नाम खुलवाया जा सकता हैं।
  • यहां प्रत्येक Financial Year में खाते में जो कम से कम राशि है उसे जमा कराना होगा यदि ऐसा नहीं किया तो इसमें पेनाल्टी के रूप में 50 रूपये देने पड़ेंगे।
  • इस खाते को खुलवाने के लिए कन्या का Birth Certificate होना बहुत जरूरी हैं।
  • यह खाता केवल Indian Resident Girl के लिए ही खुलवाया जा सकता है। इसलिए जरूरी है कि जिस लड़की के नाम खाता खुलवाया है खाता बंद होने तक उसका भारत में रहना जरूरी है। यदि इस समयावधि में लड़की की नागरिकता बदल जाती है तो जिस दिन से नागरिकता बदली है उसी दिन से यह खाता बंद हो जाता है।
  • NRI लड़कियां इस खाते को नहीं खुलवा सकता हैं।

खाता खुलवाने के लिए जरूरी कागजात –

  • जिस लड़की के नाम पर खाता खुलवाना है उसका जन्म प्रमाण पत्र जिसे अस्पताल या सरकारी अधिकारी द्वारा प्रमाणित किया गया हो।
  • लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावक का निवास प्रमाण पत्र जैसे- राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, बिजली बिल, वोटर आईडी, या भरात सरकार द्वारा जारी कोई अन्य प्रणाण-पत्र जिसमें निवास का विवरण दिया गया हो।
  • हाईस्कूल प्रमाण-पत्र या पैन कार्ड भी खाता खोलने में मान्य है।

सुकन्या समृद्धि खाते के लाभ – Benefits of sukanya samridhi account

  • वर्तमान में उपलब्ध अन्य बचत योजनाओं की अपेक्षा sukanya samridhi Scheme  में सबसे ज्यादा Interest rate दिया जा रहा है इसके साथ ही यह वित्त मंत्रालय द्वारा अधिकृत  Public और Private बैंक व पोस्ट आफिस में इस खाते को खुलवाया जा सकता हैं।
  • आयकर अधिनियम की धारा 80सी के तहत छूट में शामिल। इस धारा के तहत सालाना 1.5 लाख रुपए तक के निवेश पर कर में छूट मिलती है। ब्याज और पूर्ण परिपक्वता राशि समेत सभी तरह के भुगतान पूरी तरह से करमुक्त हैं।
  • sukanya samriddhi Account को सम्पूर्ण भारत में कहीं भी Transfer कराया जा सकता है, इसके लिए लड़की के अभिभावक/माता-पिता को निवास प्रमाण-पत्र देना होगा। इसका कोई चार्ज नहीं लगता हैं।
  • सुकन्या समृद्धि खाता के तहत खोले गये खाते में पैसा नगद, चेक या डिमांड ड्राफअट किसी भी तरीके से रकम जमा करायी जा सकती है। चेक अथवा डिमांड ड्राफ्ट पोस्टमास्टर या ब्रांच के नाम बनाये जा सकते हैं।
  • इस स्कीम के तहत जिस लड़की के नाम पैसा जमा किया गया है वहीं पैसे को निकाल सकती हैं। यहां तक कि खाते में जमा करने वाले उसके माता-पिता या कोई अन्य कानूनी अभिभआवक हो उन्हे इसे पैसा निकालने का अधिकार नहीं है।
  • यह खाता जिस दिन खुलवाया जाता है उस दिन से 14 वर्ष तक ही खाते में रकम जमा करनी होती है उसके 7 वर्ष तक Account Mature होता है।

सुकन्या समृद्धि खाता का समयपूर्व बंद करना- Premature Closer of Sukanya Samriddhi Account

यदि किसी कारणवश खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो उसका मृत्यु प्रमाण-पत्र, सम्बन्धित शाखा या पोस्टऑफिस में पेश करके खाते को बंद करवाया जा सकता है। इस तरीके से खाते में जमा की गयी धनराशि मय ब्याज के खाता धारक के अभिभावक को लोटा दी जायेगीष

18 की होने के पहले खाता बंद करने की शर्त यह है कि जब सक्षम अधिकारी यह सुनिश्चित हो जाएगा कि अब जमाकर्ता के लिए खाते में रकम जमा करना संभव नहीं है और रकम जमा करने में मुश्किल हो रही है तो खाता बंद किया जा सकता है। समय से पहले खाता बंद करने की और कोई तीसरी वजह नहीं मानी जाएगी

Dounload Sukanya Samriddhi Account Form

आप खाते को किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस से फार्म ले सकते हैं इसके साथ ही सुकन्या समृद्धि खाता योजना के फॉर्म के लिए लिंक पर क्लिक करें- Dounload Sukanya Samriddhi Account Form

Read More- 

Technicalworld: